स्पन्दन

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

वंदन अभिनन्दन

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

स्पंदन संज्ञा पुं॰ [सं॰ स्पन्दन]

१. किसी चीज का धीरे धीरे हिलना । कंपन । काँपना ।

२. (अंगों आदि का) प्रस्फुरण । फड़कना ।

३. गर्भस्थ शिशु का स्फुरण या उद्दीपन । अर्भक में जीव का प्रस्फुरण (को॰) ।

५. तीव्र गति या शीघ्र गमन (को॰) ।

६. एक प्रकार का वृक्ष (को॰) ।