हंदा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

हंदा संज्ञा पुं॰ [सं॰ हन्तकार] पुरोहित या ब्राह्मण के लिये निकाला हुआ भोजन । विशेष—पंजाब के खत्री ब्राह्मणों में यह प्रथा है कि सबेरे की रसोई में से कुछ अंश अपने पुरोहित के लिये अलग कर देते हैं । इसी को हंदा कहते हैं ।