हथौड़ा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

हथौड़ा संज्ञा पुं॰ [हिं॰ हाथ + औड़ा (प्रत्य॰)] [स्त्री॰ अल्पा॰ हथौड़ी]

१. किसी वस्तु को ठोंकने, पीटने या गढ़ने के लिये साधन- वस्तु । लुहारों या सुनारों का वह औजार जिससे वे किसी धातु- खंड को तोड़ते, पीटते या गढ़ते हैं । मारतौल ।

२. कील ठोंकने, खूंटे गाड़ने आदि का औजार ।