हिंसा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

संज्ञा

स्त्री.

अनुवाद

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

हिंसा संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. वध या पीड़ा । जीवों को मारना या सताना । प्राण मारना या कष्ट देना ।

२. हानि पहुँचाना । अनिष्ट करना ।

यह भी देखिए