हिज्जे

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

हिज्जे संज्ञा पुं॰ [अ॰ हिज्जह्] किसी शब्द में आए हुए अक्षरों को अलग अलग मात्रा सहित कहना । क्रि॰ प्र॰—करना । मुहा॰—हिज्जे निकालना = (१) टुकड़े टुकड़े करना । (२) अपत्ति करना । हिज्जे पकड़ना = अशुद्धि पकड़ना । गलती निकालना ।