हिमालय

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

हिमालय संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. भारतवर्ष की उत्तरी सीमा पर बरा- बर फैला हुआ एक बहुत बड़ा और ऊँचा पहाड़ जो संसार के सब पर्वतों से बड़ा है । विशेष—इसकी ऊँची उँची चोटियाँ सदा बर्फ से ढकी रहती हैं और सबसे ऊँची चोटी २९,॰॰२ फुट ऊँची है । यह संसार की सबसे ऊँची चोटी मानी गई है । उत्तर भारत की सबसे बड़ी नदियाँ इसी पर्वतराज से निकली हैं । पुराणों में यह पर्वत मेना या मेनका का पति और पार्वती का पिता माना गया है । गंगा भी इसकी बड़ी पुत्री कही गई हैं । यौ॰—हिमालयकन्या, हिमालयपुत्री, हिमालयसुता=दे॰ 'हिमा- द्रिजा' ।

२. श्वेत खदिर का वृक्ष । सफेद खैर का पेड़ ।