हिरण्मय

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

हिरण्मय ^१ वि॰ [सं॰]

१. सुनहरा । स्वर्णिम ।

२. सोने का बना हुआ । स्वर्णनिर्मित ।

हिरण्मय ^२ संज्ञा पुं॰

१. हिरण्यगर्भ । ब्रह्मा ।

२. एक ऋषि का नाम ।

३. जंबु द्धीप के नौ खंड़ों या वर्षों में से जो श्वेत और श्रृंगवान् पर्वततों के बीच कहा गया है ।

४. भागवत के अनुसार उक्त कंड या वर्ष का शासक, अग्नीध्र का पुत्र ।

हिरण्मय कोश संज्ञा पुं॰ [सं॰] आत्मा के सात आवरणों में से अंतिम आवरण ।