हृद्

विक्षनरी से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

हृद् संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. हृदय । दिल । मन ।

२. छाती । वक्ष । सीना (को॰) ।

३. चैतन्य । आत्मा (को॰) ।

४. किसी वस्तु का सत् या सार भाग । वस्तु का भीतरी या मध्यवर्ती भाग । हीर (को॰) ।

हृद् दाह संज्ञा पुं॰ [सं॰] हृदय का दाह । हृदय की जलन [को॰] ।