अंगुलित्र

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

संज्ञा पुल्लिंग

  1. तंतु या तारों वाला बाजा जो कमानी से नहीं बल्कि उँगली में मिजराब पहनकर बजाया जाता है, जैसे—सितार, बीन, एकतारा आदि।
  2. अंगुलित्राण

प्रयोग

संबंधित शब्द

अन्य भाषा में

  • अङ्गुलित्र

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अंगुलित्र संज्ञा पुं॰ [सं॰ अङ्गुलित्र]

१. वह तत या तारों वाला बाजा जो कमानी से नहीं बल्कि उँगली में मिजराब पहनकर बजाया जाता है, जैसे—सितार, बीन, एकतारा आदि ।

२. दे॰ 'अंगुलित्राण' [को॰] ।