ऊँट

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

संज्ञा

पु.

अनुवाद

यह भी देखिए

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

ऊँट संज्ञा पुं॰ [ सं॰ उष्ट्र, प्रा॰ उट्ट ] [ स्त्री॰ ऊँटनी ] एक ऊँचा चौपाया जो सवारी और बोझ लादने के काम में आता है । विशेष—यह गरम और जलशून्य स्थानों अर्थात् रेगिस्तानी मुल्कों में अधिक होता है । एशिया और अफ्रीका के गरम प्रदेशों में सर्वत्र होता है । इसका आदि स्थान अरब और मिस्र है । इसके बिना अरबवालों का कोई काम नहीं चल सकता । वे इसपर सवारी ही नहीं करते बल्कि इसका दूध, मांस, चमडा सब काम में लाते हैं । इसका रंग भूरा, डील बहुत ऊँचा ( ७-८ फुट ), टाँगें और गरदन लंबी, कान और पूँछ छोटी, मुँह लंबा और होठ लटके हुए होते हैं । ऊँट की लंबाई के कारण ही कभी कभी लंबे आदमी को हँसी में ऊँट कह देते हैं । ऊँट दो प्रकार का होता है — एक साधारण या अरबी और दूसरा बगदादी । अरबी ऊँट की पीठ पर एक कूव होता है । ऊँट भारी बोझ उठाकर सैकडों कोस की मंजिल तै करता है । यह बिना दाना पानी के कई दिनों तक रह सकता है । मादा को ऊँटनी या साँडनी कहते हैं । यह बहुत दूर तक बराबर एक चाल चलने से प्रसिद्ध है । पुराने समय में इसी पर डाक जाती थी । ऊँटनी एक बार में एक बच्चा देती है और उसे दूध बहुत उतरता है । इसका दूध बहुत गाढा होता है और उसमें से एक प्रकार की गंध आती है । कहते हैं, यदि यह दूध देर तक रखा जाय तो उसमें कीडे पड जाते हैं । मुहा॰—ऊँट किस करवट बैठता है = मामला किस प्रकार निबटता अथवा क्या नतीजा निकलता है । ऊँट की कौन सी कल सीधी = बेढंगों के काम में कहीं भी सलीके का न होना । ऊँट से आदमी होना = बेढंगे से सलीकेदार होना । उ॰— जो कहीं छह महाने हमारी जूतियाँ सीधी करो तो ऊँट से आदमी बन जाओ ।—फिसाना॰, भा॰ १, पृ॰ ७ । ऊँट की चोरी और झुके झुके = छिप न सकनेवाली बात को छिपाने का यत्न । ऊँटे के गले में बिल्ली बाँधना = ऐसा जोड़ बैठा देना जिसका कोई मेल ही न हो ।

१. ऊँट का पाद होना = बेफायदा बात । निरर्थक बात । उ॰— करनी कौ रस मिटि गयौ भयौ न आतम स्वाद । भई बनारसि की दशा जथा ऊँट कौ पाद ।—अर्ध॰, पृ॰ ५४ । ऊँट के मुँह में जीरा = अधिक भोजन करनेवाले को स्वल्प सामग्री देना । बडी़ जरूरत के सामने स्वल्प सामग्री की व्यवस्था । ऊँट निगल जायँ, दुम से हिचकियाँ = दावा बडी बडी बातों का और व्यवहार में उलझन तनिक सी बात पर ।

२. ऊँट मक्के को भागता है = स्वभाव आदत का शिकार होना । ऊँट बैल का साथ = बेमेल साथ । अनमोल संगति । उ॰— ऊँट बैल का साथ हुआ है । कुत्ता पकडे हुए जुवा है ।—आराधना पृ॰ ७२ ।