घास

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

घास[सम्पादन]

संज्ञा[सम्पादन]

Grass-JW.jpg

घास

  1. एक एकबीजपत्री हरा पौधा

पर्यायवाची[सम्पादन]

अनुवाद[सम्पादन]

यह भी देखिए[सम्पादन]

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

घास ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰] १ आहार । खाद्यपदार्थ ।

२. चार । तृण । यौ॰—घासकुंद, घासस्था=चरागाह । घासकूट=पुआल की गाँज । तृणस्तूप ।

घास ^२ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ घासि]

१. पृथ्वी पर उगनेवाले छोटे छोटे उदिभद् जिन्हें चौपाए चरते हैं । तृण । चारा । क्रि॰ प्र॰—काटना ।—चरना ।—छीलना । यौ॰—घास पात=(१) तृण और वनस्पति । (२) खर पतवार । कूड़ा करकट । घास फूस=(१) कूड़ा करकट । खर पतवार । (२) बेकाम चीज । मुहा॰—घास काटना या खोदना=(१) तुच्छ काम करना । छोटा और सहज काम करना । (२) व्यर्थ काम करना । निरर्थक प्रयत्न करना । उ॰—तुम सों प्रेमकथा को कहिबो मनो काटिबो घास ।—सूर (शब्द॰) । (३) किसी काम को बेपरवाही से जल्दी जल्दी करना । घास खाना=पशु बनना । पशु के समान हो जाना । घास छीलना=(१) खुरपे से घास को जड़ के पास से काटना । (२) दे॰ 'घास काटना' ।

२. एक प्रकार का रेशमी कपड़ा ।

३. कागज पन्नी आदि के महीन कटे हुए टुकड़े जो ताजिए या और किसी वस्तु पर सजावट के लिये चिपकाए जाती हैं ।