चाबी

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

वस्तु वाचक संज्ञा[सम्पादन]

अर्थ[सम्पादन]

ताला खोलने के लिए उपयोग किया जाने वाला एक वस्तु है। हर ताले का एक अलग प्रकार का चाभी होता है। इसके अलावा अन्य प्रकार के ताले का चाबी से नहीं खुलता है।

अन्य शब्द[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

चाबी संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ चाप (= दबाव) या पुर्त्त चेब]

१. वुंजी । ताली । क्रि॰ प्र॰—लगाना । मुहा॰—चाबी देना = (१) कुंजी ऐठकर ताला बंद करना । (२) कुंजी के द्वार किसी कल की कमानी को ऐंठकर कसना जिसमें झटके के कारम उसके सब पुरजे फिर ज्यों के त्यों चलने लगें । जैसे,—घड़ी में चाबी देना । चाबी भरना = दे॰ 'चाबी देना' ।

२. कोई ऐसा पच्चड़ जिसे दो जुड़ी हुई वस्तुओं की संधि में ठोंक देने से जोड़ दृढ हो जाय । क्रि॰ प्र॰—भरना । मुहा॰—चाबी भरना = वह युक्ति करना जिसके द्वारा किसी व्यक्ति से अपने इच्छानुसार काम कराया जा सकें ।