पकना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

क्रिया

अनुवाद


प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

पकना क्रि॰ अ॰ [सं॰ पक्व, हिं॰ पक्का, पका + ना (प्रत्य॰)]

१. पक्वावस्था को पहुँच जाना । कच्चा न रहना । अनाज, फल आदि का पुष्ट होकर काटने या खाने के योग्य होना । ऐसी अवस्था को पहुँचना जिसमें स्वाद, पूणता आदि आ जाती है । जैसे, आम पकना, खेत में अनाज पकना ।