मलय

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

संज्ञा

... देश/राज्य/प्रांत की भाषा

अनुवाद

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

मलय संज्ञा पुं॰ [सं॰ मलय (=पर्वत)]

१. दक्षिण भारत के एक पर्वत का नाम । विशेष—(१) यह पश्चिमी घाट का वह भाग है जो मैसूर राज्य के दक्षिण और ट्रावंकोर के पूर्व में है । यहाँ चंदन बहुत उत्पन्न होता है । पुराणों में इसे सात कुलपर्वतों में गिनाया गया है । (२) मलय शब्द पवन, समीर, वायु आदि शब्दों के आदि में समस्त होकर (१) सुगंधित और (२) दक्षिणी वायु का अर्थ देता है । जैसे, मलयसमीर, मलयपवन, आदि । पर्या॰—आषाढ़ । दक्षिणाचल । चंदनाद्रि । मलयाचल ।

२. मलबार देश ।

३. मलबार देश के रहनेवाले मनुष्य ।

४. एक उपद्वीप का नाम ।

५. सफेद चंदन । उ॰—दारु विचारु कि करइ कोउ बंदिय मलय प्रसंग ।—मानस, १ । १० ।

६. गरुड़ के एक पुत्र का नाम ।

७. नंदन वन ।

८. उद्यान । उपवन । बाग (को॰) ।

९. छप्पय के एक भेद का नाम । इसमे २५ गुरु, १०२ लघु, कुल १२७ वर्ण या १५२ मात्राएँ होती है ।

१०. पहाड़ का एक प्रदेश । शैलांग ।

११. ऋषभदेव के एक पुत्र का नाम ।

यह भी देखिए