वार्ता:ईश्वर

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

इशवर व्यापक है ईश्वर सार्वकालिक है ईश्वर इस पूरे ब्रह्मांड को नियंत्रित करने वाला है कण कण अनु परमाणु सभी मे व्याप्त है ना वो पैदा होता है ना मारता है वो इस ब्रह्मांड की रचनाकर है ओर विनाश करता है कृपया करके ईश्वर ओर भगवान को एक अर्थ ना माने भगवान तो एक राजा भी हो सकता है सभी गुणो से युक्त व्यक्ति भी भगवान की संज्ञा पा जाता है कृपया करके भगवान ओर ईश्वर का अर्थ एक ना करे

धन्यवाद