सामग्री पर जाएँ

संघर्ष

विक्षनरी से

हिन्दी

संज्ञा

  1. स्पर्धा, होड़
  2. कठिनाइयों या प्रबल विरोधी शक्तियों को दबाने के लिए प्राणपण से की जाने वाली चेष्टा

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

संघर्ष संज्ञा पुं॰ [सं॰ सङ्घर्ष]

१. एक चीज का दूसरी चीज के साथ रगड़ खाना । संघर्षण । रगड़ । घिस्सा ।

२. दो विरोधी व्यक्तियों या दलों आदि में स्वार्थ के विरोध के कारण होनेवाली प्रतियोगिता या स्पर्धा ।

३. वह अंहकारसूचक वाक्य जो अपने प्रतिपक्षी के सामने अपना बड़प्पन जतलाने के लिये कहा जाय ।

४. किसी चीज को घोटने या रगड़ने की क्रिया । रगड़ना । घिसना ।

५. असूया । ईर्ष्या । डाह (को॰) ।

६. कामोद्दीपन । कामोत्तेजना (को॰) ।

७. शत्रुता । बैर भाव (को॰) ।

८. धीरे धीरे चलना । टहलना ।

९. शर्त लगाना । बाजी लगाना ।