सरीसृप

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

संज्ञा[सम्पादन]

पु॰

  1. एक कशेरुकी जीव

अनुवाद[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

सरीसृप संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. रेंगनेवाला जंतु । जैसे, — साँप, कनखजूरा आदि ।

२. सर्प । साँप ।

३. विष्णु का एक नाम ।

सरीसृप ^२ वि॰ रेंगनेवाला । पेट के बल घिसटते हुए चलनेवाला [को॰] ।