कठपुतली

विक्षनरी से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

हिन्दी

संज्ञा

  1. काठ (लकड़ी) की बनी हुई पुतली जिसे धागे या तार की सहायता से नचाया जाता है।

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

कठपुतली संज्ञा पुं॰ [हिं॰ काठ+ पुतली]

१. काठ की बनी हुई पुतली । काठ की गुड़िया या मूर्ति जिसको तार द्वारा नचाते हैं । यौ॰.—कठपुतली का नाच=एक खेल जिसमें काठ की पुतलियाँ तार या घोड़े के बाल के सहारे नचाई जाती हैं ।

२. वह व्यक्ति जों दूसरे के कहे पर काम करे, अपनी बुद्धि से कुछ न करे । जैसे,—वे तो उन लोगों के हाथ की कठपुतली हो रहे । यौ॰.—कठपुतली सरकार =वह सरकार जो किसी बाहरी शक्ति द्वारा प्रेरित हो ।