चीन

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

नामवाचक संज्ञा

  1. पूर्वी एशिया में स्थित एक देश, आधिकारिक नाम चीनी जनवादी गणराज्य
  2. पूर्वी एशिया में स्थित एक क्षेत्र जिसपर चीनी जनवादी गणराज्य और चीनी गणराज्य का शासन है।
  3. चीनी लोगों की सभ्यता और संस्कृति।

अन्य भाषाओं में

यह भी देखें

Wikipedia-logo-v2.svg
चीन को विकिपीडिया,
एक मुक्त ज्ञानकोश में देखें।

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

चीन संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. झंडी । पताका ।

२. सीसा नामक धातु । नाग ।

३. तागा । सूत ।

४. एक प्रकार का रेशमी कपडा ।

५. एक प्रकार का हिरन ।

६. एक प्रकार की ईख ।

७. एक प्रकार का साँवाँ अन्न । दे॰ वि॰ 'चेना' ।

८. एक प्रसिद्ध पहाडी देश जो एशिया के दक्षिण—पूर्व में है । इसकी राजधानी पेकिंग है । विशेष— यहाँ के अधिकांश निवासी प्राय: बोद्ध हैं । चीन के निवासी अपनी भाषा में अपने देश को 'चंगक्यूह' कहते हैं । कदाचित् इसीलिये भारत तथा फारस के प्राचीन निवासियों ने इस देश का नाम अपने यहाँ 'चीन' रख लिया था । चीन देश का उल्लेख महाभारत, मनुस्मृति, ललितविस्तार आदि ग्रंथों में बराबर मिलता है । यहाँ के रेशमी कपडे भारत में चीनांशुक नाम से इतने प्रसिद्ध थे कि रेशमी कपडे का नाम ही 'चीनांशुक' पड गया है । चीन में बहुत प्राचीन काल का क्रम- बद्ध इतिहास सुरक्षित है । ईसा से २९५० वर्ष पूर्व तक के राजवंश का पता चलता है । चीन की सभ्यता बहुत प्राचीन है, यहाँ तक कि युरोप की सभ्यता का बहुत कुछ अंश — जैसे, पहनावा, बैठने और खाने पीने आदि का ढंग, पुस्तक छापने की कला आदि — चीन से लिया गया है । यहाँ ईसा के २१७ वर्ष पूर्व से बौद्ध धर्म का संचार हो गया था पर ईसवीं सन् ६१ में मिंगती राजा के शासनकाल में जब भारतवर्ष से ग्रंथ और मूर्तियाँ गई, लोग बौद्ध धर्म की ओर आकर्षित होने लगे । सन् ६७ में कश्यप मतंग नामक एक बौद्ध पंडित चीन में गए और उन्होंने ' द्वाचत्वारिंशत् सूत्र ' का चीनी भाषा में अनुवाद किया । तबसे बराबर चीन में बौद्ध धर्म का प्रचार बढता गया । चीन से झंड के झुंड यात्री विद्याध्ययन के लिये भारत वर्ष में आते थे । चीन में अबतक ऐसे कई स्तूप पाए जाते हैं जिनके विषय में चीनियों का कथन है कि वे सम्राट अशोक के बनवाए हैं । यौ॰— चीन की दीवार = एक प्रसिद्ध दीवार जिसे ईसा से प्राय: दो सौ वर्ष पूर्व एक चीनी सम्राट ने उत्तरीय जातियों के आक्रमण से अपने देश की रक्षा करने के लिये बनवाया था । यह दीवार प्राय: १५०० मील लंबी है औऱ बहुत ऊँची, चौडी और दृढ बनी है । इसका कुछ अंश मंगोलिया और चीन देश की विभाजक सीमा है । इसकी गणना संसार के सात सबसे अधिक आश्चर्यजनक पदार्थों (सप्ताश्चर्य) में की जाती है । मुहा॰— चीन का, या चीनी का बरतन या खिलौना आदि = दे॰ चीनी 'मिट्टी' ।

९. उक्त देश का निवासी ।

चीन ^२ † संज्ञा पुं॰ [हिं॰ चीन्ह]दे॰ 'चिन्ह' ।

चीन ^३ † संज्ञा पुं॰ [सं॰ चयन] दे॰ 'चुनन' ।

मराठी

नामवाचक संज्ञा

  1. चीन
  2. चीनी जनवादी गणराज्य

यह भी देखें

Wikipedia-logo-v2.svg
चीन को विकिपीडिया,
एक मुक्त ज्ञानकोश में देखें।