दंगा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

संज्ञा

  1. झगड़ा, बखेड़ा, विरोध, खटपट, राढ़, तकरार, कलह, मनमुटाव, टकराव, वाद-विवाद

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

दंगा † ^३ संज्ञा पुं॰ [देश॰] अग्निकरण । उ॰—इक राह चाह लागौ असुर निरसहाय प्राकार नव । अवरंग प्रथी पर उलटियौ, दंग प्रगटयो जाम दव ।—रा॰ रू॰, पृ॰ २० ।

दंगा संज्ञा पुं॰ [फा़॰ दंगल]

१. झगड़ा । बखेड़ा । उपद्रव । उ॰— खेलन लाग बालकन संगा । जब तब करिय सखन दते दंगा ।— विश्राम । (शब्द॰) । क्रि॰ प्र॰—करना ।—होना । यौ॰—दंगा फसाद ।

२. गुल गपाड़ा । हुल्लड़ । शोर । गुल । उ॰—शीश पर गंगा हँसे भुजन भुजंगा हँसैं हाँस ही को दंगा भयो नंगा के विवाह में ।—पद्माकर (शब्द॰) ।