वह

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

सर्वनाम[सम्पादन]

  1. दूर में किसी (व्यक्ति, वस्तु आदि) को दिखाने के लिए उपयोग किया जाता है।

अनुवाद[सम्पादन]

विपर्याय[सम्पादन]

  1. यह

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

वह नृत्य जिसमें नायक और नायिका दोनों रसपूर्ण हो परस्पर प्रेमप्रदर्शनपूर्वक चुंबनादि करते हुए नृत्य करते हैं ।

२. बिजली की चमक ।

३. कटाव । क्षत (को॰) ।

वह ^१ सर्ब॰ [सं॰ सः या असौ]

१. एक शब्द जिसके द्वारा दूसरे मनुष्य से बातचीत करते समय किसी तीसरे मनुष्य का संकेत किया जाता है । जैसे,—तुम जाआ; वह आता ही होगा ।

२. एक निर्देशकारक शब्द जिससे दूर की या परोक्ष वस्तुओं का संकेत करते हैं । जैसे,—यह और वह दोनों एक ही है । विशेष—इस अर्थ में यह शब्द संज्ञा के पहले विशेषण की तरह भी आता है । जैसे,—यह आदमी और वह आदमी ।

वह ^२ संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. बैल का कंधा ।

२. घोड़ा ।

३. वायु ।

४. मार्ग । पथ ।

५. नद ।

६. वाहन (को॰) ।

७. प्रवाह । धारा (को॰) ।

८. ले जाने या ढोने की क्रिया (को॰) ।

९. चार द्राण का एक मान (को॰) ।

१०. गाय के रंभनि का शब्द (को॰) ।

वह ^३ वि॰

१. बोझ उठाकर के जानेवाला । जेसे, काष्ठ मारवह ।

२. गंवाहक । जैस, धवह (समास म) ।