साल

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

संज्ञा

पु॰

(वर्ष)

अनुवाद


प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

साल ^१ संज्ञा पुं॰, स्त्री॰ [हि॰ सलना या सालना]

१. सालने या सलने की क्रिया या भाव ।

२. छेद । सूराख ।

३. चारपाई के पावों में किया हुआ वह चौकोर छेद जिसमें पाटी आदि बैठाई जाती है ।

४. घाव । जख्म ।

५. दुख । पीड़ा । वेदना । कसक । चुभन । उ॰—को जानि मात बिझनी पीर । सौति कौ साल सालै सरीर ।—पृ॰ रा॰, १ ।३७५ ।

साल ^२ संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. जड़ । मूल ।

२. कूचवंदी की परिभाषा में खस की जड़ । जिसमें कूच बनती है ।

३. राल । धूना ।

४. वृक्ष । पेड़ ।

५. प्राकार । परकोटा ।

६. दीवार ।

७. एक प्रकार की मछली जो भारत, लंका और चीन में पाई जाती है ।

८. सियार ।

९. कोट । किला । (डिं॰) ।

१०. साल का वृक्ष । दे॰ 'साल' ।

साल ^३ संज्ञा पुं॰ [फ़ा॰] वर्ष । बरस । बारह महीने ।

साल ^४ संज्ञा पुं॰ [सं॰ शालि] दे॰ 'शालि' ।

साल ^५ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ शाल] दे॰ 'शाला' ।

साल † ^६ संज्ञा पुं॰ [सं॰ श्याल] दे॰ 'साला' ।

साल † ^७ संज्ञा पुं॰ [फ़ा॰ शाल] दे॰ 'शाल' ।

साल अमोनिया संज्ञा पुं॰ [अं॰] नौसादर ।

यह भी देखिए